मनरेगा मजदूरी रेट 2024-25। Mgnrega Wage Rate 2024-25 State Wise

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Mgnrega Wage Rate: केंद्र सरकार ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत मजदूरी दरों में संशोधन किया है। वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए नई मजदूरी दरें तय की गई हैं, जो 1 अप्रैल 2024 से प्रभावी होंगी। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने 27 मार्च 2024 को इन संशोधित मजदूरी दरों की घोषणा की है।

इस नए बदलाव के तहत, मनरेगा योजना के अंतर्गत देश के सभी राज्यों में श्रमिकों की औसत दैनिक मजदूरी दर 261 रुपये से बढ़ाकर 289 रुपये कर दी गई है, अर्थात प्रतिदिन 28 रुपये की वृद्धि हुई है। इस निर्णय का लाभ सभी राज्यों के उन श्रमिकों को मिलेगा जो इस योजना में शामिल हैं। इस वृद्धि के माध्यम से सरकार का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार को बढ़ावा देना और श्रमिकों की आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करना है।

विभिन्न राज्यों के लिए मनरेगा की मजदूरी रेट:

मनरेगा के लिए विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इसकी मजदूरी लगभग ₹25 बड़ी है।  आप प्रत्येक राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश का मनरेगा की मजदूरी में बढ़ाने के दर को स्वयं देख सकते हैं।जो नीचे दर्शाया गया है;

राज्य/ केंद्र शासित प्रदेशमनरेगा मजदूरी दर
आंध्र प्रदेश₹300
अरुणाचल प्रदेश₹234
असम₹249
बिहार₹245
छत्तीसगढ़₹243
गोवा₹356
गुजरात₹280
हरियाणा₹374
हिमाचल प्रदेश ₹236
हिमाचल प्रदेश ₹295
जम्मू कश्मीर₹259
लद्दाख₹259
झारखंड₹245
कर्नाटक₹349
केरला₹346
मध्य प्रदेश₹243
महाराष्ट्र₹297
मणिपुर₹272
मेघालय₹254
मिजोरम₹266
नागालैंड₹234
ऑडिशा₹254
पंजाब₹322
राजस्थान₹266
सिक्किम₹249
सिक्किम₹374
तमिलनाडु₹319
तेलंगाना₹300
त्रिपुरा₹242
उत्तर प्रदेश₹237
उत्तराखंड₹237
पश्चिम बंगाल₹250
अंडमान₹329
निकोबार₹347
दादरा नगर हवेली, दमन एण्ड ड्यू₹324
लक्षद्वीप₹315
पुडुचेरी₹319

मनरेगा योजना क्या है?

मनरेगा योजना जो 2005 में भारत सरकार द्वारा इसे शुरू किया गया था। इस योजना का महत्व यह था कि भारत के अधिकांश जनसंख्या को 100 दिन की मजदूरी की गारंटी दी जाए। जिसकी मदद से उनका रोजगार प्रदान किया जाए।  जो लोग इसके लिए योग्य है या जिन लोगों के पास पहले से कोई रोजगार नहीं है वह इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।  यह योजना पहले नरेगा के रूप में जाना जाता था लेकिन इस सरकार ने बदल के मनरेगा कर दिया था। 

मनरेगा योजना की सहायता से सरकार भारत के नागरिकों को चाहे वह पुरुष हो या स्त्री उसे कमाने का अवसर प्रदान करती है। इस अवसर का लाभ आप भी उठा सकते हैं। 

मनरेगा  के लिए क्या पात्रता है?

  •  मनरेगा का पात्र होने के लिए आपको सबसे पहले भारत का नागरिक होना चाहिए।
  •  मनरेगा का पात्र होने के लिए आपके परिवार के किसी सदस्य का सरकारी नौकरी नहीं होना चाहिए। 
  •  मनरेगा का लाभ उठाने के लिए आपको कम से कम 100 दिन काम करना पड़ेगा। 
  •  मनरेगा की पात्रता होने के लिए आपको गरीबी रेखा से नीचे होना चाहिए। 
  •  इसकी पात्रता के लिए आपकी न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए। 
  •  इस योजना का आवेदन पुरुष अथवा महिला दोनों कर सकते हैं। 

Read more:-

मनरेगा का पैसा किस माध्यम से आता है?

मनरेगा का पैसा जो हर महीने उसके लाभार्थियों के खाते में डीबीटी के माध्यम से भेज दिया जाता है।  डीबीटी का मतलब यह है कि उनके खाते में सरकार डायरेक्ट पैसा भेजते हैं जो इसे  बिचौलिया नहीं ले सकते है।  इस डीबीटी के माध्यम से सरकार ने इसके दौरान होने वाले भ्रष्टाचार को रोकने का प्रयास किया है। 

डीबीटी के लिए आपके पास आपके नजदीकी बैंक में एक अकाउंट होना अनिवार्य है, और इसके साथ ही साथ आपका  अकाउंट आधार से लिंक होना चाहिए। 

निष्कर्ष:  आज के इस आर्टिकल में हमने  मनरेगा की मजदूरी में बढ़ोतरी के बारे में बताया है आप इसकी मदद से अपने राज्य की नरेगा की बढ़ोतरी को जान सकते हैं। 

।।धन्यवाद।।

FAQ:-

Q1: MNREGA का फुल फॉर्म क्या है?

उत्तर: THE MAHATMA GANDHI NATIONAL RURAL EMPLOYMENT GUARANTEE ACT है । 

Q2: उत्तर प्रदेश में मनरेगा मजदूरों का रेट क्या है?

उत्तर: उत्तर प्रदेश में मनरेगा मजदूरों का रेट ₹237 है।

Q2: मनरेगा की औसतन आय क्या है?

उत्तर: मनरेगा की औसतन आय  ₹330 प्रतिदिन है?

Hello friends, my name is Govind Mourya, I am the Writer and Founder of this blog and share all the information related to Blogging, Technology, Sarkari Yojana, Jobs, and Exam through this website.

Leave a Comment